जैतून का तेल – Health and Heritage: The Magic of Olive Oil in Hindi Remedies!

जैतून का तेल खाने के लिए बहुतअच्छा माना जाता है. क्योकि जैतून के तेल में बने खाने से बहुत सी बीमारियों से बचा जा सकता है। जैतून के तेल को हम आज हिंदी में समझेंगे.Olive Oil in Hindi-जैतून का तेल

दुनिया में सबसे ज्यादा जैतून स्पेन में उगाया जाता है जोकि 50% के आसपास है इसके बाद ग्रीस, इटली, तुर्की और मोरोक्को में भी बहुत मात्रा में उगाया जाता है हैं। जोकि खाना बनाना में बहुत समय से उपयोग किया जाता है. यह भूमध्यसागरीय व्यंजनों में बहुत उपयोग में लिया जाता है जैतून के तेल को मर्रिनेशन करने में, खाना ग्रिल करने में , सलाद की डेसिंग करने में बहुत किया जाता है। जैतून के तेल में मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसेचुरेटेड वसा बहुत मात्रा में पाया जाता है जो अच्छा वसा माना जाता है. जैतून का तेल एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं जैसे विटामिन ई जो बीमारियों से बचाने में मदद करता है.

  • जैतून के तेल के प्रकार:

जैतून के तेल के आम तौर पर 4 प्रकार का होता है जोकी तेल निकालने की विधी और तेल की गुणवत्ता पर होता है

  • (1)  एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल:   एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल महंगे तेलों में शुमार है क्योकि इसकी गुणवत्ता अधिक होती है इसे कोल्ड प्रेस विद्धि से निकला जाता है इसमें ल कोई भी कैमिकल नहीं डाला जाता। इस तेल का स्वाद और खुशबू जैतून के फल जैसी होती है इसका उपयोग सलाद पर छिड़कने के लिए किया जाता है |

 

  • (2)  वर्जिनऑलिव ऑयल: वर्जिन ऑलिव ऑयल भी एक उच्च गुणवत्ता वाला तेल है जो एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल से बची हुई खली से निकाला जाता है इसका उपयोग खाना बनाने में किया जाता है इस तेल में एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल के मुकाबले काम अम्लता होती है।

 

  • (3)  प्योर ऑलिव ऑयल:  यह तेल वर्जिनऑलिव ऑयल और रिफाइंड ऑलिव ऑयल का मिश्रण होता है इसका उपयोग खाने को बैंकिंग और फ्राई करने में किता जाता है

 

  • (4)  एक्स्ट्रा लाइट ऑलिव ऑयल :  एक्स्ट्रा लाइट ऑलिव ऑयल को रिफाइंड और फ़िल्टर किया जाता है. जिससे इसके स्वाद की तिव्रता और अशुध्दियो काम किया जाता है इस तेल का स्वाद और रंग दूसरे जैतून के तेलों से कम होता है इस तेल का प्रयोग खाना बनाने और बेकिंग में किया जाता है

 

 

  • जैतून के तेल के फायदेOlive Oil in Hindi-जैतून का तेल

  • मधुमेह के खतरे के बचता है

जैतून का तेल ब्लड शुगर के मरीजों के लिए बहुत अच्छा माना जाता है क्योंकि जैतून के तेल के कई गुना ब्लड शुगर के मरीजों के लिए बहुत अच्छे होते हैं

 

जैतून के तेल में पाए जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट ब्लड शुगर के मरीजों को ब्लड शुगर होने वाली परेशानियों से बचाता है

 

जैतून का तेल शरीर में इंसुलिन की मात्रा को नियंत्रित रखने में मदद करता है तथा इंसुलिन से ब्लड शुगर को नियंत्रित किया जाता है

 

  • स्ट्रोक रोकने में सहायक

मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह में गड़बड़ी स्ट्रोक का कारण होता है

 

विकसित देशों में हार्ट अटैक के बाद स्ट्रोक मृत्यु का दूसरा आम कारण है जो किआम बात नहीं है

 

स्ट्रोक के जोखिम को काम करने के लिए जैतून के तेल के साथ बहुत से परिक्षण किये गए है

 

लगभग 850000 लाख लोगों पर अध्ययन से पता चला है की हार्ट अटैक और स्टॉक रिकवरी के लिए जैतून का तेल फायदेमंद है

 

एक सर्वे के मुताबिक जिन लोगों ने जैतून के तेल का उपयोग किया उनमें स्ट्रोक और हार्ट अटैक के लक्षण कम पाए गए उनसे जिन्होंने जैतून के तेल का उपयोग नहीं किया

 

 

  • एंटीऑक्सीडेंट का एक अच्छा स्रोत 

जैतून के तेल में एंटीऑक्सिडेंट जैविक रूप से सक्रिय होता है जिससे पुरानी बीमारियो के जोखिम में राहत मिलती है

 

  • हेल्दी मोनोअनसैचुरेटेड वसा

जैतून के तेल में प्रमुख तोर मोनोअनसैचुरेटेड वसा पाया जाता है जोकि ओलिक एसिड है. जिसकी जैतून तेल में 73% मात्रा पाई जाती है अध्ययनों से पता चलता है की यह सूजन को काम करने में मदद करता है और कैंसर के प्रभाव को भी कम करता है

 

जैतून के तेल में सैचुरेटेड फैट की मात्रा लगभग 14% होता है और लगभग 11% पॉलीअनसेचुरेटेड भी होता है जोकि ओमेगा-6 और ओमेगा-3 फैटी एसिड के रूप में पाया जाता है

 

बहुत से अध्ययनो में यही पाया गया है की जैतून का तेल सूजन को काम करता है और कैंसर के प्रभाव को भी काम करता हैOlive Oil in Hindi-जैतून का तेल

  • निष्कर्ष

जैतून का तेल स्वस्थ खाना बनाने के साथ-साथ कॉस्मैटिक और देसी दवाइयां बनाने के काम भी आता है. जैतून के तेल में मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसेचुरेटेड वसा के साथ-साथ एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन और खनिज अच्छी मात्रा में पाए जाते है जो स्वास्थय के लिए बहुत अच्छा मानाजाता है

 

Disclaimer:

इस लेख में दी गई सभी जानकारी केवल शिक्षा के नजरिये से दी गई है जैतून के तेल का लाभ सभी पर एकसा होगा यह कही नहीं बताया गया अपने खान में बदलाव से पहले अपने नजदीकी डॉक्टर से जरूर परामर्श करे.

  • QNA

  • Que.    जैतून के तेल का दूसरा नाम क्या है?
  • Ans.    जैतून के तेल को तरल सोना भी कहा जाता है क्योकि इसके बहुत सारे फायदे होते है और इसका रंग भी सुनेहरा होता है.

 

  • Que.   नाभि पर जैतून का तेल लगाने से क्या होता है?
  • Ans.  नाभि में जैतून के तेल को डालने स हार्ट के मरीजों को फायदा हो सकता है क्योकि इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज होती है जो दिल के मरीजों के लिए अच्छी होती है.

 

  • Que.   क्या जैतून के तेल से गोरे होते हैं?
  • Ans.    नहीं जैतून के तेल लगाने से हमारी त्वचा गोरी नहीं होती परन्तु इसमें एंटीऑक्सीडेंट होने के कारण त्वचा में हल्कापन महसूस होताहै

 

  • Que.   क्या हम शरीर पर जैतून का तेल लगा सकते हैं?
  • Ans.  हां जैतून का तेल शरीर पर मालिश के लिए लगाया जा सकता है.इसका उपयोग मॉइस्चराइज़र के रूप में भी किया जाता है. जैतून के तेल से हमारी त्वचा को बहुत लाभ मिलता है.

 

  • Que.  जैतून का तेल कितने रुपए का मिलता है?
  • Ans.   वैसे तो जैतून के तेल की कीमत उसकी क्वालिटी पर निर्भर करती है पर जैतून का तेल आम तोर पर ₹750 से ₹1000 प्रति लीटर के लगभग मिल जाता है 

 

  • Que.  क्या जैतून का तेल त्वचा को काला करता है?
  • Ans.    नहीं जैतून का तेल त्वचा को काला करता नहीं करता। बल्कि जैतून के तेल से आखों के डार्कसर्कल और चहरे के दाग धब्बे काम होते है.

 

  • Que.  कौन सा तेल अच्छा है कैनोला या जैतून का?
  • Ans.  दोनों तेल ही बहुत अच्छे है. परन्तु जैतून का तेल जयादा अच्छा मन जाता है और कनोला के तेल से जैतून के तेल का स्वाद अच्छा होता है

2 thoughts on “जैतून का तेल – Health and Heritage: The Magic of Olive Oil in Hindi Remedies!”

Leave a Comment