The Ultimate Winter Comfort Food: How Sarson Ka Saag Warms Both Heart and Soul-सरसों का साग

सरसों का साग एक ऐसी डिश जिसका नाम सुनते ही मुँह में पानी आ जाता है

सरसों का साग भारत के पंजाब राज्य में बहुत ही शोंक से बनाया जाता है पूरी दुनिया में सरसों का साग बहुत मशहूर है |

पंजाब में सर्दियों में कोई घर ऐसा नहीं होगा जो साग न बनता हो। सरसों का साग सर्दियों में जयादा बनाया जाता हैं

क्योकि सर्दियों में सरसों की खेती होती है जिससे भरपूर मात्रा में मिल जाता है सरसों के पौधे से साग तोड़ने से फसल को कोई नुक्सान भी नहीं होता है.

बल्कि सरसों का साग तोड़ने से फसल की पैदावार और भी भाड़ जाती है इससे किसान को भी फायदा होता है और एक स्वादिस्ट व्यंजन भी बन जाता है।

  • सरसों का साग खाने के फायदे;

सरसों का साग पंजाब का एक पारंपरिक व्यंजन है जिसे सरसों के साग, पालक और अन्य पत्तेदार सब्जियों को मिलकर बनाया जाता है।

सरसों का साग खाने के कुछ फायदे आगे लिखे हुए है :

1.   सरसों का साग पोषक तत्वों से भरपूर होता है सरसों का साग आवश्यक विटामिन और खनिजों जैसे विटामिन ए, सी, के और फोलेट से भरपूर होता है। यह कैल्शियम, आयरन और एंटीऑक्सीडेंट का भी अच्छा स्रोत है।

2.   सरसों के साग में उच्च विटामिन सी सामग्री इम्युनिटी को बढ़ावा देने में मदद करती है, और पकवान में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट संक्रमण और बीमारियों से बचाने में मदद करते हैं।

3.  सरसों के साग में हाई फाइबर पाचन को बढ़ती है, और सरसों का साग कब्ज को काम करता है जिस व्यक्ति को कब्ज की समस्या हो उसके लिया सरसों का साग बहुत फायदेमंद होता है।

4.  सरसों का साग कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता हैं, जिससे हृदय रोग का खतरा कम होता है। हृदय रोगियों के लिए सरसों का साग खाना अच्छा होता है।

5.  सरसों का साग में कम कैलोरी होती है लेकिन फाइबर अच्छी मात्रा में पाया जाता है, जो वजन कम करने के लिए एक बढ़िया आहार है।

6.  सरसों का साग कैल्शियम का एक अच्छा स्रोत है, जो हड्डियों और दांतों की मजबूत बनता है।

कुल मिलाकर इतनी सी बात है की सरसों का साग एक स्वस्थ और पौष्टिक व्यंजन है जो आहार के हिस्से के रूप में सेवन करने पर कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है।Sarson Ka Saag-सरसों का साग

सरसों का साग कैसे बनता है.

सरसों का साग बनाना बहुत ही आसान है इसे बनाते समय कुश चीजों का धयान रखना होता है जो आगे बताई गई है।

सरसों का साग बनाने के लिए हमें चाहिए ;

500 ग्राम                               सरसों का साग (सरसों)
250 ग्राम                               पालक (पालक)
1 प्याज                                  कटा हुआ
2 टमाटर                               कटा हुआ
2 हरी मिर्च                             कटी हुई
1 इंच अदरक                         कद्दूकस किया हुआ
5-6 कलियां                           लहसुन कटी हुई
3 बड़े चम्मच                           देसी घी
1 चम्मच                                जीरा
2 चम्मच                                नमक
1/2 छोटा चम्मच                   लाल मिर्च पाउडर
1/2 चम्मच                            हल्दी पाउडर
4 कप                                   पानी

सरसों का साग और पालक के पत्तों को अच्छी तरह धोकर बारीक काट लीजिए.एक प्रेशर कुकर में, कटा हुआ साग, अदरक, लहसुन, हरी मिर्च, और साग को डाल दें.

अब पानी डालकर कूकर का ढक्कन लगाकर 15 से 20 मिनट तक अच्छे से पका लें अब गैस बंद कर दे और कूकर को तुरंत ना खोलें कूकर को अपने आप ठंडा होने दें.

ठंडा होने के बाद सभी सब्जियों को हैंड ब्लैंडर या मिक्सी में अच्छी तरह से पीस लें।

  • सरसों के साग का तड़का कैसे बनता है

सरसों के साग का तड़का बहुत ही आसानी से बन जाता है सरसों के साग का तड़का बनाने के लिए. एक पैन में घी डालकर गरम कर लें और उसमें जीरा डाल लें।

जीरे को हल्का सा भून ले अब इसमें कटे हुए प्याज डालकर प्याजों को भूरा होने तक भून लें अब इसमें कटा हुआ टमाटर ,नमक, हल्दी और लाल मिर्च पाउडर डालकर टमाटर को अच्छे से पका लें.

धयान रखे की जब टमाटर डालें तब साथ में नमक जरूर डाल दें क्योकि जब हम टमाटर में नमक डालते है तो टमाटर पानी छोड़ता है

ये बताना इसलिए जरूरी था क्योकि बहुत बार लोग साग को पकाते समय ही नमक डाल देते है और तड़के में नमक नहीं डालते है जिससे साग का तड़का अच्छा नहीं बनता।

अब इस तड़के को बने हुए साग में डालकर अच्छे से मिला लें अब साग को 15 से 20 मिनट तक हल्की आंच पर पका लें.

लो जी आपका सरसों का साग बनकर तैयार है |

Pro Tip….

सरसों का साग बनाने के बाद साग को 8 से 10 घंटे फ्रिज में रख दें फिर साग को दोबारा गरम करके देसी घी या माखन डालकर परोसें.Sarson Ka Saag-सरसों का साग

  8 से 10 घंटे में साग के सभी फ्लेवर आपस में मिल जाते है और बहुत अच्छा स्वाद ऊबभर कर आता है 

Paneer Butter Masala Recipe..

पनीर लबाबदार…

  • QNA

  • Que. क्या सरसों का साग कच्चा खाया जा सकता है?
  • Ans.

सरसों का साग कच्चा खाया जा सकता है. क्योंकि हरी सब्जी कोई भी कच्ची खाई जा सकती है और यही कच्चा खाना पाचन किर्या को दुरुस्त करता है

  • Que. सरसों का साग कब्ज के लिए अच्छा है?
  • Ans.

सरसों के साग में हाई फाइबर पाचन को बढ़ती है, और सरसों का साग कब्ज को कम करता है जिस व्यक्ति को कब्ज की समस्या हो उसके लिया सरसों का साग बहुत फायदेमंद होता है।

  • Que.    सरसों के साग को कम कड़वा कैसे बनाते हैं?
  • Ans.

सरसों के साग को कम कड़वा करने के लिए साग को पहले ब्लांच कर लें जिससे साग की कड़वाहट हैट जाती है

  • Que. सरसों का साग खाने से क्या फायदा है?
  • Ans.   सरसों का साग खाने से बहुत से फायदे है जिनमे से कुछ निम्नलिखित है

1. आंखों के लिए फायदेमंद होता है

2.  वजन कम करने में मदद करता है

3.  डायबिटीज में फायदेमंद होता है

4.  शरीर को डिटॉक्स करने में मदद करता है

5.  दिल के लिए फायदेमंद होता है

6.  हड्डियां को मजबूत करता है

  • Que. सरसों के साग में कौन सा विटामिन पाया जाता है?
  • Ans.

सरसों के साग में कैल्शियम, आयरन और एंटीऑक्सीडेंट के साथ-साथ विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन के का एक अच्छा स्रोत है।

Leave a Comment